आंतरिक शुद्धी से ही थेर बनते है

आंतरिक शुद्धी से ही थेर बनते है लकुन्टक भद्धिय थेर की कथा दूसरी बात यह है कि जो कुछ संघर्ष करके प्राप्त किया जाता है, लोग उसे ही मूल्यवान मानते है | संघर्ष ही जीवन, गति की पहचान है | एक उदाहरण है कि एक बार कक्षा में शिक्षक अपने शिष्यों को समझा रहें थे … Read more