केवल भिक्षाटन मात्र से कोई भिक्षु नही हो जाता

केवल भिक्षाटन मात्र से कोई भिक्षु नही हो जाता एक ब्राह्मण की कथा इन दो गाथाओ को बुद्ध ने जेतवन में एक ब्राह्मण के संदर्भ में कहा था | वह ब्राह्मण संसार से संन्यास लेकर किसी अन्य सम्प्रदाय में प्रव्रजित हो गया | वह भिक्षाटन करता हुआ एक दिन विचार करने लगा, “बुद्ध अपने शिष्यों … Read more