पापी इस लोक में भी दु:ख पाता है, उस लोक में भी

पापी इस लोक में भी दु:ख पाता है, उस लोक में भी चुन्द सुकरिक कि कथा श्रावस्ती में चुन्द सुकरिक नामक एक कसाई पचपन वर्षो से सुअरों की हत्या क्र अपना जीवन यापन कर रहा था | जब उसके पास सूअर की कमी हो जाती तो वह धान के बदले सूअर के बच्चों को खरीद … Read more