बाहर से साफ, भीतर से गंदा : क्या लाभ ?

बाहर से साफ, भीतर से गंदा : क्या लाभ ? कुछ भिक्षुओं की कथा शास्ता ने ये दो गाथाए कुछ भिक्षुओं के संदर्भ में जेतवन में कही थी | एक बार कुछ श्रमण भिक्षु और कुछ श्रामनेर अपनी धर्मचर्या के क्रम में अपने उपाध्यायो के चीवर रंगने का कम कर रहें थे ऑफ़ उन्हें दूसरी … Read more